सरकार के इस बड़े पोर्टल पर साइबर अटैक? डार्कवेब पर ईरानी हैकर का बड़ा दावा

एक लड़ाई भारत सरहद पर चीन की सेना के साथ लड़ रहा है, तो  दूसरी तरफ भारत के स्वास्थ्य सेक्टर का सर्वर साइबर आतंकियों के साथ लड़ रहा है. AIIMS दिल्ली पर हुए साइबर अटैक को अभी कुछ ही हफ्ते बीते थे, कि अब साइबर आतंकियो ने COWIN प्लेटफॉर्म पर एक बड़ा साइबर हमला कर दिया है. डार्कवेब पर एक ईरानी हैकर ने पोस्ट करके दावा किया है कि उसके पास COWIN प्लेटफॉर्म का Admin Access यानी Username और पासवर्ड है. इसके साथ ही उसके पास प्लेटफॉर्म पर मौजूद हेल्थकेयर वर्कर्स का सेंसटिव डेटा भी है जिसे वो बेचना चाहती है.

अपनी पोस्ट में हैकर ने Cowin प्लेटफॉर्म को access करने स्क्रीनशॉट भी शेयर किया, जिसमें टीकाकरण में शामिल कई स्वास्थ्यकर्मियों का पर्सनल डेटा जैसे मोबाइल नंबर शामिल हैं. इसके अलावा एक दूसरे स्क्रीनशॉट में Cowin प्लेटफार्म पर मौजूद वैक्सीनशन सेन्टर की जानकारी है.  हैकर ने डार्कवेब पर दावा किया है कि ये दोनों स्क्रीनशॉट्स COWIN प्लेटफार्म के एडमिन पेज के हैं, जिसका कंट्रोल उसके पास है.

हैकर का नाम नज़ीला ब्लैकहैट- मामले की और तह तक जाने के लिए पहले हमने इस हैकर के बारे में जानकारी इकट्ठा की. इस हैकर का नाम नज़ीला ब्लैकहैट है और ये ईरान के APT ग्रुप Shield Iran Security Team की सदस्य है, जिससे विश्व भर की कई सरकारें परेशान हैं. COWIN पोर्टल पर हमला करने वाली इस ईरानी हैकर ने डार्कवेब पर अपना टेलीग्राम यूज़रनेम शेयर किया था और लिखा था जो व्यक्ति इससे COWIN का ACCESS खरीदना चाहता है वो टेलीग्राम पर सम्पर्क करें.

बातचीत में हैकर ने क्या कहा- ऐसे में मामले की और खोजबीन करने के लिए टेलीग्राम मैसेंजर पर हमने इस हैकर से बात की. हैकर ने पहले हमें कुछ स्क्रीनशॉट दिए, जिसमें यह साफ दिख रहा था कि यह हैकर बेंगलुरु के एक स्वास्थ्यकर्मी के यूजर एकाउंट से admin.cowin.gov.in वेबसाइट को access कर रही थी. इस हैकर ने बताया कि COWIN प्लेटफ़ॉर्म का Admin access वो 300 डॉलर में बेचेगी यानी लगभग 25 हज़ार रुपयों में. हैकर को Cowin प्लेटफॉर्म का admin access कैसे मिल गया जब इस बारे में हमने हैकर से बातचीत की तो उसने इसे Private Exploit तकनीक बताया.

पूरे मामले पर जब हमने साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ अमित दुबे से बात की और उन्हें हमारी पड़ताल में सामने आए सभी तथ्य दिखाए, तो अमित दुबे ने कहा कि प्रथम दृष्टया यह मामला Cowin प्लेटफॉर्म के login लीक का लग रहा है जहां हैकर के पास किसी ऐसे व्यक्ति का Username और पासवर्ड का आ गया है जिसके पास COWIN का admin access है, जो सिर्फ चुनिंदा लोगों के पास मौजूद है, आम लोगों के पास नहीं. अमित दुबे के मुताबिक एम्स पर साइबर हमले और सर्वर पर कब्जे के बाद अब COWIN प्लेटफार्म पर इस तरह के साइबर हमले के बाद अब सरकार को जरूरी कदम उठाने होंगे. जिससे भविष्य में इस स्थिति से बचा जा सके और सीमा की सुरक्षा के साथ साथ सर्वर की भी सुरक्षा बनी रहे.

NHA की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं- इस पूरे मामले पर हमने COWIN प्लेटफ़ॉर्म का संचालन करने वाले NATIONAL HEALTH AUTHORITY (NHA) से भी जवाब मांगा था लेकिन अभी तक 72 घंटे बीत जाने के बाद भी NHA ने आधिकारिक तौर पर कोई भी बयान नहीं दिया है. हालांकि NHA के सूत्रों के मुताबिक ZEE NEWS द्वारा NHA को इस पूरे मामले की जानकारी देने के बाद कल सुबह से ही NHA की टीम मामले की जांच में जुटी हुई है.

Share post -

Live COVID-19 statistics for
India
Confirmed
44,683,754
Recovered
0
Deaths
530,739
Last updated: 6 minutes ago

यह वेबसाइट कुकीज़ या इसी तरह की तकनीकों का इस्तेमाल करती है, ताकि आपके ब्राउजिंग अनुभव को बेहतर बनाया जा सके और व्यक्तिगतर तौर पर इसकी सिफारिश करती है. हमारी वेबसाइट के लगातार इस्तेमाल के लिए आप हमारी प्राइवेसी पॉलिसी से सहमत हों.